Mothers Day

Share

We celebrate this Mothers Day by creating a unique post that has contribution from all the three major writers from The Khallas Way. Do you see the same common thread in all these poems – feel free to post.

 Mothers Day By Tau Ji | Abhay Johari

Taui ji is sharing the pain of not able to become flawless like her mother

Make me flawless like yourself .

अपनी देह की चाक पर
कुम्हरींन की तरह
गढ़ी होगी माँ ने मेरी देह.
अपने स्पर्श से बना दिए होंगे
मेरे गुणा-कार,
और फिर डाल दी होगी अपनी शक्ति अपनी जान.
पकाया होगा मुझे अपने हृदय की गरमी से,
एक एक पल महीनो तक,
तभी तो कभी-कभी, कुछ-कुछ –
अपनी माँ जैसा हो जाता हूँ मैं –
उदार, नि:स्वार्थ, सहनशील, समर्पित और समझदार,
पर भटक गया हूँ मैं,
अंजान राहों पे आते जाते,
मुझे पूरा अपना जैसा बना दे ना माँ, जाते-जाते..

 

Mothers Day By Mrs Khallas | Shalini Johari

Mrs Khallas wonders how close are we to our mother but still so far

Very close still very far !

सब कहते हैं मैं तुम जैसी दिखती हूं
पर तुमसा मुझमें कुछ भी नहीं
तुम्हारे विचारों में अब भी पलती हूं
पर फिर भी मैं बढ़ती नहीं
अपने मन की सारी उड़ाने तुमने मुझे दे दीं
फिर भी जाने क्यूं मैं उड़ती नहीं
ज़िंदगी को वक्त से मिली कितनी ही राहतें
पर तुम्हारे प्यार के बिना ये थमती ही नहीं
अपने मन के सारे सुख दुःख बांट लेती हूं तुमसे
फिर भी मेरी बातें खत्म होती ही नहीं
अपनों के प्यार और आशीर्वाद से भरी हूं मैं
पर तुम्हारे आँचल के साये को भूलती नहीं
हजारों जन्मों का प्यार जब रंग लाता है
तुम्हारे सिवा कोई और सूरत उससे बनती नहीं
माँ तुम मेरी व्याख्या हो या मैं तुम्हारा सारांश
इस अजब पहेली को मैं समझती नहीं

 

Mothers Day By Mr Khallas | Atul Johari

For Mr Khallas Mother is the source of all queries and answers at the same time

No questions – No answers

मैं कहाँ
तुम ही तो हो
सारा जहां
तुम ही तो हो
क्यों ढूढूं तुम्हें
क्या बोलूं तुम्हें
एक आँसू भी
क्यों उड़ेलूँ तुम्हें
तुम ही बोलो
कहीं और
क्योँ और
कुछ और
करूँ मैं

 

 

Poetries-by-Mr-Khallas-and-his-family-and-friends-enforcing-creativity-is-fun-thumbnail  Mr khallas urf Atulanand urf Atul Johari the creator of The Khallas Way propogating creativity is fun - Thumbnail  Hindi poetry and Sher-o-Shayari by Mrs Khallas-thumbnail  Hindi Poems by bachia ke tau urf Abhay Johari-Thumbnail

PoetryKhallas, Mrs Khallas, Bachia Ke Tau

Share

3 thoughts on “Mothers Day

    • Thank you so much Jyoti Dada for encouragement. Who knows this feeling better than you in our family as you yourself has played the role of Mother, Father and of course the big brother.

  1. Such lovely, heartfelt and goose-bumps inducing poems 🙂 I had read the first one written by Abhay uncle (he had shared it on his FB page). The other two are equally brilliant! Loving the website and thank you for sharing all this creative work with the world!

    My regards to all of you!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *