दर्द | Dard – Pain

Share

दर्द

hindi-poem-on-Pain-by-mrs-khallas-may-god-give-face-to-pain

I wish, Pain had a face!

Pain is essential for survival but certainly it is not the best gift, then why we value this unwanted gift so much and keep it close to our heart.  In this collection of poetries Mrs Khallas describes various forms of pain.

दर्द को कोई सूरत दे दे ऐ मालिक
या फिर सारे दर्द मिटा दे ऐ मालिक

कुछ दर्द तूने बांटे कुछ हमने बनाये हैं
लेकिन यह सारे अपने ही साये हैं
इनमें थोड़ी राहत दे दे ऐ मालिक
या फिर सारे दर्द मिटा दे ऐ मालिक

जिन्दगी के हर प्रहर में मौत रखती है नजर
हर रोशनी खड़ी है अँधेरे की सरहद पर
जिन्दगी पर अपनी नजर का पहरा बिठा दे
या फिर सारे दर्द मिटा दे ऐ मालिक

तू जो आसमां पर बैठ समझ पाते दर्द का आलम
इन्सान के दुख दर्द से भीगता तुम्हारा भी दामन
मौत को भी तू जीने की चाहत दे दे ऐ मालिक
या फिर सारे दर्द मिटा दे ऐ मालिक

अंधेरे

hindi-poem-on-Pain-by-mrs-khallas-darkness-will-enlighten-your-soul

Learn to be friend with darkness.

ऐ मन अंधेरों से दोस्ती कर ले
न डर इनसे, इन्हें अपने मन में भर ले
अभी सासों में है दम
चलने दे रोशनी के सितम
थकने दे तू रोशनी को
फिर अंधेरा ही होगा हमदम
तो क्या डरना इनसे, दोस्ती कर ले
इन्हें अपने मन में भर ले

चमकती रोशनी एक धोखा है
और अंधेरे को इसी ने रोका है
तेरे ही साये को पैरों में फेंक
तुझसे ही कुचलवा के देखा है
इसलिए अंधेरों से दोस्ती कर ले
न डर इनसे, इन्हें अपने मन में भर ले

तलाश कर अपने गुमशुदा अंधेरे
यही सच्चे मीत हैं तेरे
बेवफा रोशनी रह जाएगी यहीं
यही साथ जायेंगे तेरे
इसलिए न डर इनसे, इन्हें अपने मन में भर ले
ऐ मन अंधेरों से दोस्ती कर ले

 

Poetries-by-Mr-Khallas-and-his-family-and-friends-enforcing-creativity-is-fun-thumbnail poems-by-Mrs-Khallas-thumbnail  Hindi-poetry-on-dishonesty-by-mrs-khallas-thumbnail Hindi-poetry-on-memories-by-Mrs-Khallas-thumbnail hindi-poetry-on-relationship-by-mrs-khallas-thumbnail hindi-poem-on-Pain-by-mrs-khallas-Thumbnail hindi-poem-on-ma-or-mother-by-mrs-khallas-Thumbnail Hindi-poems-on-advice-by-mrs-khallas-Thumbnail Hindi-poems-on-god-or-Khuda-by-mrs-khallas-thumbnail hindi-poems-on-life-or-zindgi-by-mrs-khallas-thumbnail hindi-poems-on-confusion-by-mrs-khallas-thumbnail

Poetry , Mrs Khallasबेइमानी यादेंरिश्तेदर्दमाँ,  सलाह,  ईश्वर,  जिन्दगी,  उलझन 

 

 

 

 

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *