खल्लास (Khallas)

Share

खल्लास 

फरमाते हैं वो ज़ुबाने उर्दू से नहीं कोई सरोकार आपका      |
फरमाया गौर तो तख्खलुस खल्लास में कोई ऐब न पाया ॥

पागल खल्लास 

एक भद्र पुरुष ने दूसरे भद्र पुरुष से कहा :
पागल है खल्लास
व्यर्थ ही हँसता रहता है,
हमें तो जमाना हो गया मुस्कराये हुए ।

सही फरमाते हैं जनाब, महा पागल है खल्लास
व्यर्थ ही differential equations solve करता रहता है,
हमने तो जिंदगी बिता दी दो के पहाड़े में।

कौन नहीं जानता उस सिरफिरे को , एक और सज्जन बोले
व्यर्थ ही समस्या के समाधान में लगा रहता है,
इतना भी नहीं जानता समस्याये तो मात्र status symbol हैं|

वो अक्खड़ खल्लास, एक गड़मान्य सज्जन ने सहमति  दी
व्यर्थ ही दुश्मनी मोल लेता है,
यह भी नहीं जानता हमसे तो जमाना दम भरता है|

अजी जाने भी दीजिये उस बेहुदे को, कहीं से नम्र निवेदन आया
व्यर्थ ही कविता पाठ करता है,
अजी कीचड़ में डेले मारने का अंजाम भी नहीं जानता है|

वो dumbo खल्लास, कहीं से कटाक्ष आया
व्यर्थ ही ज्ञान की तलाश में लगा रहता है,
अजी लदे पेड़ को तो खाक में ही शाख को झुकाना पड़ता है।

वो छिछोरा खल्लास, एक भद्र महिला से न रहा गया
व्यर्थ ही ठिठोली करता है,
प्यार का इजहार भी कहीं भरी महफ़िल में होता है॥

Child,  शेर Vs शमशेरखल्लास और Motivation,  खल्लास और इश्क,  Mr & Mrs खल्लास – नोंक झोंक,  वार्तालाप,  खल्लास – यूँ ही,  खल्लास – ये क्या,  एक कविता का प्रयास

Share

Child

Share
Through his philosophical views Mr Khallas provides a very interesting definition of child

Body works lot faster than mind for a child!!

You are a child when your body works faster than your mind. The faster the body works to mind the younger you are. Conversely the faster your mind works to your body the older you are. As we grow old our brain (logic) takes over and we start analysing the implications and results of the activity we want to take up and soon we realise the futility of it and abstain from it.

 

 

 

 

philosophy-the-khallas-way-is-real-fun-with-creative-ideas-and-definitions-thumbnail  Through his philosophical views Mr Khallas provides a very interesting definition of child - Thumbnail Mr Khallas philosophy relates spirituality to an extreme form of challenge - Thumbnail  Plus (+)  is the philosophy of providing extra to achieve excellence in views of Mr Khallas - Thumbnail  Recycling life itself may sound extreme to everyone but not to Mr Khallas - Thumbnail

Philosophy , Child, Spirituality, Plus (+), Recycle Life

 

 

 

Share